श्री कृष्ण शारदा देवी महिला महाविद्यालय की स्थापना सन २०१५ में किया गया और मान्यता जुलाई २०१६ में मिला. महाविद्यालय के प्रबन्धक प्रो० आशाराम यादव (पूर्व विधायक व के.बी.पी.जी. कॉलेज मीरजापुर में भूगोल विभाग के पूर्व अध्यक्ष) जी हैं.

मीरजापुर नगर से २ कि०मी० की दुरी पर मवैया ग्रामसभा में प्रकृति के सुरम्य वातावरण में यह महाविद्यालय नगर के कोलाहलपूर्ण वातावरण से पूर्णतः अछूता है. प्रदूषण रहित शांतिपूर्ण माहौल में शिक्षण हेतु अनुकूलतम वातावरण एवं उत्कृष्ट शिक्षा ही इस महाविद्यालय की विशेषता है.

महाविद्यालय में सम्प्रति निम्नलिखित विषय संयुक्तियाँ स्वीकृत हैं जिसमें से किन्हीं तीन विषयों को चुनना होगा. छात्राओं को विषय का आवंटन प्रवेश समिति करेगी. विषय चयन करते समय तीन साहित्यिक विषय तथा तीन प्रयोगात्मक विषय का एक साथ चयन प्रतिबंधित है.

स्नातक कला संकाय:

    1. हिंदी
    2. अंग्रेजी
    3. समाजशास्त्र
    4. राजनीति शास्त्र

प्रयोगात्मक विषय:

  1. शिक्षा शास्त्र
  2. गृह विज्ञान
  3. चित्रकला

महाविद्यालय का अपना एक पुस्तकालय भी हैं जिसमें पाठ्य पुस्तकें तथा सन्दर्भ ग्रन्थ उपलब्ध हैं.

छात्राओं के साईकिल की सुरक्षा के लिए महाविद्यालय की ओर से साईकिल स्टैंड की व्यवस्था है. साईकिल लाने वाली प्रत्येक छात्रा को चाहिये कि वह प्राक्टर कार्यालय में अपनी साईकिल का रजिस्ट्रेशन करा लें. किसी अन्य स्थान पर साईकिल रखना वर्जित है. साईकिल, स्कूटी का निर्धारित शुल्क देकर तथा प्राक्टर कार्यालय में रजिस्ट्रेशन कराने के बाद साईकिल अथवा स्कूटी स्टैंड पर ही रखे जाने चाहिये. ध्यान रखें स्टैंड के अतिरिक्त अन्य स्थानों पर राखी गयी साईकिल, स्कूटी के गुम हो जाने की जिम्मेदारी महाविद्यालय की नहीं होगी.

महाविद्यालय क्रीड़ा परिषद के तत्वावधान में छात्राओं को विभिन्न खेल-कूद की सुविधा प्रदान की जाती है. अंतर्माहविद्यालय खेल-कूद प्रतियोगिताओं में भाग लेने के साथ ही कतिपय छात्राओं द्वारा विश्वविद्यालय दलों का प्रतिनिधित्व क्या जाना महाविद्यालय के लिये विशेष गौरव की बात है. खेल-कूद दक्षता प्राप्त छात्राओं को प्रवेश तथा सेवाओं में भारांक(Weightage) दिया जाता है.
खेलकूद समिति के निर्देशन में महाविद्यालय के विशाल परिसर में विभिन्न क्रीडांगनों में खेलकूद की सर्वोत्तम व्यवस्था है. महाविद्यालय में अत्यन्त प्रतिभाशाली खिलाड़ियों के लिये खेल-कूद की विशेष सुविधा दी जाती है. विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित विभिन्न प्रकार के खेल-कूद में प्रथम स्तर के छात्राओं को भाग लेने की सुविधा दी जाती है.